Saturday, December 25, 2010

दर्द तुझे भी होता होगा……

 

जब सूनी तन्हा रातों में

सब खाली खाली लगता होगा

बात किसी से करने को जब

पास न कोई होता होगा

याद तो मेरी आती होगी

दिल में टीस तो कोई उठती होगी

पत्थर दिल तो तू भी नहीं

दर्द तुझे भी होता होगा

 

राहों में देख कभी मुझे

तू भी घंटो सोचती होगी

तकिए में छुपा चेहरा अपना

तू भी घंटो रोती होगी

हो जाए सब पहले जैसा

एक आस तो मन में उठती होगी

चोट तो तूने भी खायी है

दर्द से तू भी रोती होगी

 

न शिकवे किए तूने कुछ

न कभी मेरे सुने

फिर क्यूँ बता तो एक बार

छोड़ तूने अपने, गैर चुने

कर याद उन बीतें लम्हों को

जेहन तेरा भी सिहर उठता है ना

एक बार बता दे, चाहे चुपके से

दर्द तुझे भी होता है ना

दर्द तुझे भी होता है ना

दर्द तुझे भी होता है ना

11 comments:

  1. Very nice.
    Any personal pain behind the lines ?

    ReplyDelete
  2. commendable ..... beautiful ....

    ReplyDelete
  3. फिर क्यूँ बता तो एक बार

    छोड़ तूने अपने, गैर चुने

    कर याद उन बीतें लम्हों को

    जेहन तेरा भी सिहर उठता है ना

    एक बार बता दे, चाहे चुपके से

    दर्द तुझे भी होता है ना...

    कुछ दर्द ऐसे होते हैं जिनको बयां करना बहुत मुश्किल होता है.बहुत भावपूर्ण प्रस्तुति..

    ReplyDelete
  4. न शिकवे किए तूने कुछ
    न कभी मेरे सुने
    फिर क्यूँ बता तो एक बार
    छोड़ तूने अपने, गैर चुने
    कर याद उन बीतें लम्हों को
    जेहन तेरा भी सिहर उठता है ना
    एक बार बता दे, चाहे चुपके से
    दर्द तुझे भी होता है ना
    अति सुन्दर। दिल में उतर गई। आपका धन्यवाद बीते दिनों को याद दिलाने के लिए।

    ReplyDelete
  5. @SaM, I guess not :).

    Thanks Parag, Kailashji and ehsas, for your valuable feedback.

    ReplyDelete
  6. आपके ब्लॉग पर आकर अच्छा लगा. हिंदी लेखन को बढ़ावा देने के लिए आपका आभार. आपका ब्लॉग दिनोदिन उन्नति की ओर अग्रसर हो, आपकी लेखन विधा प्रशंसनीय है. आप हमारे ब्लॉग पर भी अवश्य पधारें, यदि हमारा प्रयास आपको पसंद आये तो "अनुसरण कर्ता" बनकर हमारा उत्साहवर्धन अवश्य करें. साथ ही अपने अमूल्य सुझावों से हमें अवगत भी कराएँ, ताकि इस मंच को हम नयी दिशा दे सकें. धन्यवाद . आपकी प्रतीक्षा में ....
    भारतीय ब्लॉग लेखक मंच
    डंके की चोट पर

    ReplyDelete
  7. Well.. I must say this is one of my favorite poem. Thanks for writing it.

    ReplyDelete
  8. Thanks for writing this poem. This is one of my favorite poem. Thanks.

    ReplyDelete